पाकिस्तान में 65 लाख गांठ कपास का उत्पादन एवं 42 लाख गांठ का आयात होने का अनुमान

01-Dec-2023 05:38 PM

कराची । अमरीकी कृषि विभाग के इस्लामाबाद स्थित प्रतिनिधि कार्यालय (उस्डा पोस्ट) ने 2023-24 के वर्तमान मार्केटिंग सीजन के दौरान पाकिस्तान में 65 लाख गांठ कपास का उत्पादन, 100 लाख गांठ का उपयोग एवं 42 लाख गांठ का आयात होने का अनुमान लगाया है।

उस्डा पोस्ट के अनुसार चालू सीजन के दौरान पाकिस्तान में कपास का कुल बिजाई क्षेत्र 24 लाख हेक्टेयर रहा। आमतौर पर पाकिस्तान में कपास के कुल उत्पादन में पंजाब प्रान्त की भागीदारी 70 प्रतिशत रहती है लेकिन इस बार वहां फसल पर कीड़ों-रोगों का घातक प्रकोप होने से उत्पादन घटने की संभावना है जिससे उसकी हिस्सेदारी में कमी आ सकती है।

लेकिन सिंध प्रान्त में फसल की हालत काफी अच्छी बताई जा रही है। सिंध और पंजाब- दोनों प्रांतों की मंडियों में कपास की जोरदार आवक हो रही है। चालू सीजन के दौरान अब तक सिंध प्रान्त में 27 लाख गांठ एवं पंजाब प्रान्त में 24 लाख गांठ रूई की आवक हो चुकी है।

चूंकि यह आंकड़ा उस्डा पोस्ट का है इसलिए कपास की प्रत्येक गांठ 480 पौंड में आंकी गई है। रूई की सर्वाधिक आवक सिंध के संघार जिले में 11.70 लाख गांठ की हुई है जबकि 5.80 लाख गांठ की आवक के साथ पंजाब प्रान्त का बहावल नगर जिला दूसरे स्थान पर रहा। 

पाकिस्तान में 2023-24 सीजन के दौरान विदेशों से 42 लाख गांठ कपास के आयात का अनुमान लगाया गया है जो 2022-23 सीजन के आयात से कुछ कम है। घरेलू उत्पादन में अच्छी वृद्धि होने से आयात में कमी आएगी।

पाकिस्तानी संख्यिकी ब्यरो की एक रिपोर्ट के अनुसार जुलाई से अक्टूबर 2023 के चार महीनों में पाकिस्तान से गत वर्ष की समान अवधि के मुकाबले वस्त्र उत्पादों का निर्यात 6.3 प्रतिशत घट गया मगर कपास तथा कॉटन यार्न के निर्यात में क्रमश: 187 प्रतिशत एवं 43 प्रतिशत का जोरदार इजाफा हुआ। चीन इसका सबसे प्रमुख खरीदार रहा।

पाकिस्तान सरकार ने 2023-24 सीजन के लिए कपास का न्यूनतम समर्थन मूल्य 8700 रुपए प्रति मन (40 किलो) निर्धारित किया है जो 757 डॉलर प्रति टन के समतुल्य है। लेकिन बेहतर उत्पादन एवं मंडियों में अच्छी आवक के कारण कपास का भाव गिरकर सरकारी समर्थन मूल्य से नीचे आ गया है।

Latest News